आर.एस.एस. फीड (RSS Feed) क्या बला है?

[उन्मुक्त] हर वेबसाइट पर हमेशा कुछ न कुछ नयी सूचना आती रहती है और इसे देखने के लिये निम्न तरीके हैं,

  • वेबसाइट पर जाकर नयी सूचना देखना।
  • वेबसाइट से नयी सूचना के बारे में ई-मेल प्राप्त करना।
  • RSS/ ATOM फीड के द्वारा जानकारी करना।

वेबसाइट पर जाकर सूचना प्राप्त करना सबसे पुराना तरीका है। उसके बाद जैसे, जैसे तकनीक में सुधार होता गया, सूचना प्राप्त करने के तरीके भी सुलभ होते गये। पहले ई-मेल से सूचना प्राप्त करने की सुविधा आयी फिर RSS/ ATOM फीड की तकनीक आयी।

यदि कोई वेबसाइट उस पर आने वाली नयी सूचना के बारे में ई-मेल नहीं भेजती है या फिर RSS/ ATOM फीड नहीं देती है तो आप इन दोनों के द्वारा इस वेबसाइट से इस तरह से सूचना नहीं प्राप्त कर सकते हैं। उस सूरत में आपको इस वेबसाइट पर जाकर ही सूचना पता करनी होगी।

RSS/ ATOM फीड यह एकदम नयी तकनीक है। इन दोनों में फॉरमैट का अन्तर है लेकिन व्यवहार में कोई अन्तर नहीं है। वे एक तरह से प्राप्त की जा सकती हैं। RSS पुरानी तकनीक है, ज्यादा आसान है, और ज्यादा लोकप्रिय है। The Internet Engineering Task Force (IETF), इन्टरनेट के मानकीकरण वा उन्नतिकरण में कार्यरत है। Atom इसी के द्वारा दिया गया एक मानक फॉरमैट है। यह लिखने और पड़ने दोनो फॉरमैट एक फॉरमैट में लाने का प्रयत्न है।



RSS/ Atom फीड उस नयी सूचना हेडलाइन के रूप में आप तक पहुंचाती है और यदि आप उनकी हेडलाइन को क्लिक करें तो वह आपको पूरे लेख तक पहुंचा देती है। नयी सूचना जानने के लिये यह सबसे अच्छी सुविधा है। जिस वेबसाईट में निम्न तरह का कोई भी चिन्ह हो तो आप समझ लीजिये कि वह अपना RSS/ Atom फीड देती है।


RSS के फुलफार्म के बारे में कुछ विवाद है पर अधिकतर लोग यह मानते हैं कि इसका फुल फार्म Really Simple Syndication है। Atom अपने आप में पूरा शब्द है। RSS/Atom फीड पढ़ने के लिये एग्रेगेटर (Aggregator) या न्यूस़ रीडर (News reader) या फीड रीडर (Feed reader) प्रोग्राम का प्रयोग करना पड़ता है जो कि मुफ्त में इन्टरनेट में उपलब्ध हैं यह निम्न प्रकार से फीड पढ़ते हैं,

  • इन्टरनेट पर जा कर: इस तरह के प्रोग्रामों में Blogline, Newsgator और यदि आपके पास याहू अथवा गूगल की ई –मेल ID है तो आप My yahoo अथवा Personalised google में भी फीड जोड़ सकते हैं । कई वेब ब्राउसर जैसे कि फायर फॉक्स या ओपेरा वगैरह में न्यूस़ रीडर प्रोग्राम रहता है और इनमें भी फीड डाउनलोड की जा सकती है।
  • अपने कंप्यूटर पर न्यूस़ रीडर प्रोग्राम को इन्सटॉल (install) करके: इस तरह के प्रोग्रामों में Newsgator, feedreader (केवल विंडोस़ में) (http://www.feedreader.com/) Akregator (केवल लिनेक्स में) प्रमुख हैं।
  • ई-मेल भेजने एवं प्राप्त करने के सॉफ्टवेयर के साथ: थन्डर-बर्ड ई-मेल भेजने एवं प्राप्त करने का बहुत अच्छा सॉफ्टवेयर है यह ओपेन सोर्स है और मुफ्त है। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह सब प्रकार के Operating system पर चलता है । इसमें भी New & Blog में जाकर आप किसी भी वेबसाइट की फीड डाउनलोड कर सकते हैं। यह उसी प्रकार से किया जाता है जैसे ई-मेल सेटअप की जाती हैं।

[CopyFree from http://unmukt-hindi.blogspot.com/ with a million thanks to उन्मुक्त]

चिट्ठाजगत पर सम्बन्धित: संगणक, जालजगत, तंत्रांश, सॉफ्टवेयर, हिन्दी, हिन्दी-जगत, राजभाषा, विश्लेषण, सारथी, शास्त्री-फिलिप, software, sofrware-review, hindi, hindi-world, Hindi-language,

Share:

Author: Super_Admin

5 thoughts on “आर.एस.एस. फीड (RSS Feed) क्या बला है?

Leave a Reply to paramjitbali Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *