चिट्ठाकारी सफलता: एक और राज

SandClock जैसा मैं ने अपने लेख अपना चिट्ठा कैसे दफनायें! में कहा था, चिट्ठा चालू करना आसान है, लेकिन उन में से 80% सुप्त हो जाते है. यह अफसोस की बात है, लेकिन निम्न बातों को ध्यान में रखेगे तो हर नये/पुराने चिट्ठाकार को बहुत मदद मिलेगी:

1. कई लोग विषय के आभाव में लिखन बंद कर देते है. लेकिन यदि आप रोज खोजी नजर से अखबार पडते हैं तो नये विषय अपने आप मन में आ जायेंगे.

2. एक छोटी सी डायरी साथ रखें. मन में आते विषय तुरंत ही नोट कर लें क्योंकि अनुसंधान बताते हैं कि आप कितना भी कोशिश करें लेकिन 4 घंटे बाद आप लगभग सारे विषय भूल जाते है. अपनी बौद्धिक संपत्ति को लापरवाही के कारण न खोयें.

3. जाल पर लोग 200 शब्दों से कम का लेख पसंद करते है अत: 2000 शब्दों के लेख न लिखें. कोई पढेगा नहीं. आप की ऊर्जा बरबाद होगी, एवं चार दिन के बाद आप लिख नहीं पायेंगे.

4. कम से कम 60% से 80% लेख सामयिक या जनोपयोगी विषयों पर लिखें.

5. चिट्ठों पर टिप्पणी करते समय सोचें कि उन टिप्पणियों को एक छोटा लेख बनाया जा सकता है क्या. तरंगे नामक चिट्ठे पर मैं जो कवितायें छापता हूं इन में से अधिकर मेरे द्वारा काव्यरूप में की गई टिप्पणियों का विपुलीकृत/परिष्कृत रूप है.

6. विविध प्रकार का साहित्य पढें. सिर्फ अखबार के ही पढने वाले न रहें. मस्तिषक को चिंतन के सभी आयामों से होकर गुजरने दे.

7. अपने लेखों के नीचे उससे संबंधित लेखों की कडी जरूर दें, आपको 10% तक अधिक पेज-पाठ मिलेंगे.

इस विषय पर मेरे अन्य लेख:
सफल चिट्ठाकारी: विषय कैसे मिलें?
अपना चिट्ठा कैसे दफनायें!
सफल चिट्ठाकारी की गारंटी
छोटे लेखों का जादू
सारथी कैसे आपका प्रचार करता है!

आपने चिट्ठे पर विदेशी हिन्दी पाठकों के अनवरत प्रवाह प्राप्त करने के लिये उसे आज ही हिन्दी चिट्ठों की अंग्रेजी दिग्दर्शिका चिट्ठालोक पर पंजीकृत करें. मेरे मुख्य चिट्टा सारथी एवं अन्य चिट्ठे तरंगें एवं इंडियन फोटोस पर भी पधारें. चिट्ठाजगत पर सम्बन्धित: विश्लेषण, आलोचना, सहीगलत, निरीक्षण, परीक्षण, सत्य-असत्य, विमर्श, हिन्दी, हिन्दुस्तान, भारत, शास्त्री, शास्त्री-फिलिप, सारथी, वीडियो, मुफ्त-वीडियो, ऑडियो, मुफ्त-आडियो, हिन्दी-पॉडकास्ट, पाडकास्ट, analysis, critique, assessment, evaluation, morality, right-wrong, ethics, hindi, india, free, hindi-video, hindi-audio, hindi-podcast, podcast, Shastri, Shastri-Philip, JC-Philip

Share:

Author: Super_Admin

15 thoughts on “चिट्ठाकारी सफलता: एक और राज

  1. चिठ्ठाकारों को आपका अमूल्य सुझाव अवश्य भायेगा , हमारे समाज में विषय की कोई कमी नही है , ज़रूरत है तो वस् शुक्ष्म नज़र रखने की . मेरा तो मानना है कि कम ही लिखिए मगर सार्थक लिखिए . आपके लिखने से यदि समाज को कुछ प्राप्त हो तभी आपके लिखने की सार्थकता सिद्ध होगी . आपके विचार नि : संदेह प्रशंश्निये है .

  2. शास्त्रीजी
    ये लिख लेने वाला सुझाव सबसे काम का है। मैं तो, विश्वविद्यालय के दिनों से ये अमल कुछ-कुछ कर ले रहा हूं।

  3. क्र्मांक 5 के विषय मे हम सोच ही रहे थे लेकिन अपनी सभी रचनाओं की टिप्पणियों एक स्थान पर कैसे इक्ट्ठा किया जाए. चिट्ठाकारो को प्रमाण लेख लिख कर हम पहले ही धन्यवाद दे चुके है कि किस प्रकार हर लेखन से हम लाभ उठा सकते हैं… पढिएगा … http://meenakshi-meenu.blogspot.com/2007/09/blog-post_6006.html

  4. मैं आपको अपना चिट्ठा गुरू घोषित कर रहा हूं ,सचमुच पांचवी कक्षा के बाद पहली बार हिंदी में कुछ सीखने और करने का प्रोत्साहन मिल रहा है

  5. उचित सलाह के लिए धन्यवाद. आपकी बात से भी सीखने कि कोशिश करूंगा. वैसे अभी तो जो समीर जी ने कहा था उसी मे उलझा हूँ. सारा समय टिप्पणियां करने मे ही चल जाता है. मगर मैं मानता हूँ कि पोस्ट लिखने से ज्यादा जरूरी पोस्ट पढ़ना है और पोस्ट पढने से ज्यादा जरूरी टिपण्णी करना है. अब आप ये सोच सकते है कि बैगैर पोस्ट पढे टिपण्णी कैसे हो सकती है तो सर इसलिए तो ये पेंच है.

  6. आपके सुझाव में से सबसे अच्छा लगा डायरी वाला…बस इसी वक़्त से इसे नोट कर लिया है और इसे आचरण में ला रहा हूँ.ब्लॉग के अलावा भी डायरी जेब में रखने का बड़ा फ़ायदा है.साधुवाद …अपनी पोस्ट को आज से ही संक्षिप्त बनाने की चेष्टा करूंगा…

  7. अगर विषयों की बात करें तो राह चलते हर दिन नये विषय मिल सकते हैं.. और विषयों की तलाश करने का सर्वोत्तम उपाय पठन पाठन ही है..
    इस विषय को उठाने के लिये आपको साधूवाद..

  8. rezeptfrei medikament · rezeptfrei medikamente · rezeptfrei niederlande · rezeptfrei online kaufen · rezeptfrei versandapotheke · rezeptfreie potenzmittel Kaufen Sie Viagra, Cialis und Levitra gegen Impotenz online. Bestellen Sie Acomplia, Xenical und Reductil gegen Ubergewicht online. Kaufen Sie Propecia um online sildenafil

  9. cialis kaufen
    Die offizielle Website des Ministeriums fur Gesundheit und Wohlfahrt Familie bietet Informationen uber die Systeme der indischen Medizin einschlie?lich Ayurveda, einstimmig, sidha, Impotenz Drogen Mai Erhohtes Risiko eines plotzlichen Horverlust Manner und der Einnahme der Medikamente Impotenz Viagra, Levitra oder Cialis konnen ein erhohtes Risiko fur den plotzlichen eMedicine Gesundheit diskutiert Penis Implantate und chirurgische Blutgefa?e Korrekturen fur die Behandlung von Impotenz.
    online viagra bestellen

Leave a Reply to संजय पटेल Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *