वृहद हिन्दी सर्च इंजन: नाचिकेत

पेश है हिन्दी चिट्ठों एवं जालस्थलों में उप्लब्ध सामग्री की खोज हिन्दी में करने के लिये सारथी का खोज-यंत्र “नाचिकेत”. हिन्दी के 2500 से अधिक जाल-स्थल इसमें शामिल कर दिये गये हैं, एवं हर नया हिन्दी जालस्थल इसमें जोड दिया जाता है जो हमारी जानकारी में आता है. जाल-स्थल सारथी/नाचिकेत के सम्पादकों के द्वारा चुने/जोडे जाते हैं एवं इन चुने हुवे जाल-स्थलों की खोज गूगल द्वारा होती है. अत: खोजियों को सही जानकारी तुरंत उपलब्ध हो जाती है. हिन्दी खोज एवं अनुसंधान के लिये अब कहीं और जाने की आवश्यक्ता नहीं है.

नाचिकेत की ओर से: “शुभ खोज” !

— शास्त्री जे सी फिलिप

Share:

Author: Super_Admin

8 thoughts on “वृहद हिन्दी सर्च इंजन: नाचिकेत

  1. यदि इस साधन में देवनागरी लिखने की सुविधा भी जोड़ दी जाय तो मजा आ जाय!

  2. बहुत अच्छी सेवा है। खोज की बहुस्तरीय सूचकांक (multi-level-index) अधिक उन्नत करने की जरूरत है।

  3. अदभुत उपक्रम है ये आपका..सचमुच इसी से हिन्दी विस्तृत होगी.लगता है हिन्दी के दिन फ़िरने लगे हैं और सबसे बडी़ बात ये है कि इस संमृध्द करने का काम उन लोगों ने लिया है जो बहुत नामचीन और नामवर नहीं है.इसका श्रेय वाक़ई आप जैसों को दिया जाएगा जिन्होने अपने बूते पर हिन्दी को मान दिया है.सिर्फ़ तीन बरस पहले कोई सोच भी नहीं ब्लाग इस तरह की शक्ति बन कर उभरेगा.साधुवाद मन से.

Leave a Reply to संजय पटेल Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *