सारथी चिट्ठा-अवलोकन 4

यह हफ्ता हिन्दी चिट्ठा जगत के लिये काफी महत्वपूर्ण था. काफी अच्छे लेख एवं कवितायें प्रकाशित हुईं. प्रस्तुत है उन मे से चुने हुए कुछ जो पाठक को सोचने के लिये मजबूर करते हैं, या जो उसे उपयोगी जानकारी से संपुष्ट करते हैं.

अवलोकन
तरकश में पिछले माहों में प्रकाशित रचनाएँ
ईपुस्तकें
हिन्दी में ब्लागिंग कैसे करें:लेख 1 से 5
हिन्दी में ब्लागिंग कैसे करें:लेख 6 से 8
जय शंकर प्रसाद की कामायनी डाउनलोड करें
कलाजगत
सूचना-संपर्क क्रांति और लोककलाएँ
काव्य
छोड़ना
नारी के सवाल अनाड़ी के जवाब
और सफद साड़ी मे सर ठके मेरी दादी
खबर, विदेशी
बाल मजदूरी: भयावह भविष्य, कुछ चित्र
खबर, प्रादेशिक
चलना हुआ दुशवार हमारी दिल्ली में
छत्‍तीसगढ को हिन्‍दीभाषी राज्‍य घोषित करने का दुराग्रह क्‍यों ?
चिन्तन
चिन्तन
एम्.एस.सुब्बुलक्ष्मी के स्वर मे मीरा की वेदना
जनोपयोगी
क्या आपके बच्चे का रिज़ल्ट आने वाला है ?
छोड़ परायी आश (हिन्दी लेख, सन्दर्भ अंग्रेजी जालस्थल)
जाल-जगत
वेबारू : इंटरनेट खोज का नया आयाम
टिप्पणी
पानी रे पानी तू अश्लील कैसा
प्रेरणा
निष्काम और सहज भाव से लिखो, बदलाव आते रहेंगे
किस ख़्वाहिश पे दम निकले..
भाषा जगत
विज्ञानस्य का भाषा ?
मीमांसा
तृतीय यूनिमीमांसा (द्वारा जयप्रकाश मानस)

विश्लेषण
अमूल मैचो अंडरवियर का विज्ञापन बनाम अश्लीलता की परिभाषा
वैज्ञानिक
दिन दूनी रात चौगुनी वृद्धि का गणित
ग्लोबल वार्मिंग कम करने हेतु उपग्रहों का प्रयोग
निहारिका मे सितारों का जन्म
मानव इतिहास का सबसे सफल अभियान :वायेजर २
सामयिक
क्या विदेशी कोच ही है अकेला ऑप्शन?
थोथा चना, बिकता घना
हास्य-व्यंग
मुन्नाभाई मीट्स हिंदी ब्लागर्स – 2
टपकाओ उर्फ ट्रिकल डाऊन थ्योरी
ऊफ ये हिंदी!!!
हिन्दी
ब्लॉगर्स के भरोसे नेट पर हिंदी

यदि ये लेख/रचनायें आपको अच्छी लगीं तो रचनाकरों को अपनी टिप्पणी में यह बताना न भूलें कि इस खोज मे “सारथी” ने आपकी मदद की है — शास्त्री जे सी फिलिप

Share:

Author: Super_Admin

7 thoughts on “सारथी चिट्ठा-अवलोकन 4

  1. और सफद साड़ी मे सर ठके मेरी दादी
    for including my memories of my grand mother on your blog thanks again

  2. The link posted is wrong i would request you to please change the link as above regds
    rachna

    Note: We have corrected the link. All writers are invited to do a similar check on their work cited here, and inform us the right link if we ever make a mistake that way — Shastri

  3. धन्‍यवाद शास्‍त्री जी आपने हमारे चिटठे का भी अवलोकन किया, आपसे हमारी व्‍यक्तिगत अपेक्षा है कि चिटठों में शुद्व हिन्‍दी लेखन को प्रोत्‍साहन देने के उटटेश्‍य से जहां गलतियां हो वहां टिप्‍पणी कर देवें तो हमारी हिन्‍दी भी सुधरने लगेगी ।

  4. मेरी पोस्ट का उल्लेख करने हेतु धन्यवाद.शाश्त्री जी. धन्यवाद.
    अरविन्द चतुर्वेदी

Leave a Reply to divyabh Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *