“Gmail हिन्दी” के लिये कूडा-सफाई औजार

हिन्दी ईपत्र भेजने पर Gmail सामन्यतया यूनिकोड हिन्दी के साथ अच्छा काम करता है, लेकिन कभी कभी अक्षरों का कूडा कर देता है.  लिखनेपढने वाले दोनों का बहुत समय बर्बाद होता है, एवं अकसर पत्र दुबारा लिखना पडता है या फिर अंग्रेजी का सहारा लेना पडता है. लेकिन अब आपकी समस्या हल हो सकती है. यदि आपको यकीन है कि प्रेषक ने पत्र  यूनिकोड हिन्दी में ही भेजा है, तो निम्नलिखत जाल-पन्ने पर चले जाईये:  Gmail कूडा सफाई औजार  वहां पर आपको दिखेगा

FixUnicode001

अब कूडे को इस जालपन्ने के खाली स्थान पर नकलचिपका लीजिये, एवं फिक्स इट को दबाईये. नमूना नीचे देखिये कि किस तरह से कूडा पढने लायक भाषा में बदल जाता है.

FixUnicode002

इस औजार का पता लगते ही हमने दर्जनों ईपत्रों से कूडा नकलचिपका के प्रयोग किया. जहां भी प्रेषण हिन्दी यूनिकोड में हुआ है वहां हमको 95% से अधिक सफलता मिली. गजब !! अब आपकी सुविधा के लिये मूल लेखक  की इत्तिला-अनुमति के साथ  इसे हम इस चिट्ठे की दाईं बगलपट्टी पर “हिन्दी-सक्षम साफ्ट्वेयर” में दे रहे हैं, अत: सारथी को छोड  कहीं और जाने की जरूरत नहीं है.

यदि यह औजार आपको काम का लगा, एवं यदि आप चाहते हैं कि उपयोगी औजारों को जांचपरख कर हम इस तरह से सचित्र लेख प्रस्तुत करते रहें तो टिप्पणी में यह बात नोट कर दीजिये — शास्त्री जे सी फिलिप

Share:

Author: Super_Admin

12 thoughts on ““Gmail हिन्दी” के लिये कूडा-सफाई औजार

  1. शास्त्री जी,

    इस टूल को मैं बहुत दिनो से काम मे ले रहा होँ। क्या इसकी कार्य प्रणाली पर कुछ और प्रकाश डालना संभव है? यूनिकोड किस तरह भ्रष्ट होता है? मै भ्रष्ट होने की ‘मेकेनिज्म’ समझना चाहता हूँ ताकि सम्भव हो तो इस टूल से भी आगे की बात सोची जा सके।

  2. कभी कभी कुछ मित्र इ-मेल टीटीएफ फॉन्ट में भेज दे ते हैं। उस को यूटीएफ में बदलने का कोई औज़ार पता चले तो बताएँ।

  3. @विपुल
    इस पर हमें एक लेख छापना पडेगा क्योकि कोई भी एक औजार यह काम नहीं कर पाता है.

  4. शास्त्रीजी

    वंदेमातरम

    मैं अपेक्षाकृत नया चिट्ठाकार हूँ. चाहता हूँ कि अपने तमाम दोस्तो को अपने चिट्ठे से जोडों. दोस्त लोग भी जुड़ना चाहते हैं. कई जुड़ भी गए. पर अब एक नया संकट यह है कि जो नए जुड़ रहे हैं उनके लिखने पर यूनीकोड काम नहीं कर रहा है. उनके सेटिंग्स वाले कॉलम में बेसिक के बजाय सिर्फ गेस्ट होने या न होने का विकल्प आता है. क्या किया जाए, कुछ बताएँ।

    इष्ट देव सांकृत्यायन

  5. अच्छी जानकारी … अभी तक तो मैंने इसका उपयोग नहीं किया है मगर देखता हूँ।

  6. हाँ बहुत काम का टूल न सिर्फ करप्ट हुई जीमेल के लिए बल्कि किसी भी करप्ट हुए हिन्दी टैक्स्ट को ठीक कर देता है।

    हिन्दी टैक्स्ट भ्रष्ट कैसे होता है इस पर कूछ प्रकाश यहाँ डाला गया है।

  7. यह बहुत बढ़िया टूल कुछ वर्षों से इंटरनेट पर उपलब्ध है। इस के बारे में एक और रोचक बात यह है कि इसे बनाने वाली युवती हिन्दी-भाषी न हो कर एक अमरीकी हैं, और हिन्दी सीखने वालों के लिए एक याहू समूह भी चलाती हैं, जो हिन्दी संसार में नवागंतुकों के लिए बहुत बढ़िया सहायता-स्थल है।

  8. शास्त्री जी
    इस टूल का एक और भी मजेदार उपयोग है जो मैं पहले बता चुका हूँ आप इस कोड को पेस कर fix it पर किल्क करें और मजा देखें।

  9. वर्डप्रेस कोड को स्वीकार नहीं करता है सो लगता है इसके लिये एक चिट्ठा ही लिखना पड़ेगा। मैं आपको मेल में कोड भेजता हूँ, अगर आप लिख सकें तो ज्यादा अच्छा होगा।

Leave a Reply to सागर चन्द नाहर Cancel reply

Your email address will not be published.