जानें चिट्ठाजगत डॉटइन के बारे में: कैसे पढ़ें प्रविष्टियों को

दोस्तों चिट्ठाजगत डॉटइन से सम्बंधित मेरे लेख के बारे में आप में से बहुतों ने मुझे पत्र लिखा धन्यवाद. आप में से कई लोगों ने मुझ से इसकी विशेषताओं के बारें में पूछा. मेरी समझ में कई कारणों से यह हिन्दी चिट्ठाजगत का अब तक का सबसे उन्नत एग्रीगेटर है। मेरे हिसाब से इस में वो सब है जो हमें चाहिए।

आईये देखते हैं १ से १६ तक केसे पढ़ें प्रविष्टि को

how-to-read-entry

१ तस्वीर – लेखक की तस्वीर, आप अपनी तस्वीर अपने लेख के साथ दिखा सकते हैं। यह तब दिखेगी जब आप दिखाना चाहेंगे, यानी चिट्ठा अधिकृत करें, अपने खाते में तस्वीर चढ़ाएँ।

२ प्रविष्टि शीर्षक।

३ लाल दिल, जिस लेख पे दिल आ जाए इसे चटकाएँ, आपकी पसंदीदा सूची में चिपक जाएगा, अगर अभी तक किसी ने इसे अब तक अपनी पसंदीदा सूची में चिपकाया है तो यह यह भी बताएगा कितनों ने।

४ यह बताता है प्रविष्टि कितने समय पहले संजोई गई।

५ इसे चटकाएँ और पढ़ें संग्रहित प्रति।

६ झलक पर चूहा फिराएँ, झटके में झलक दिखेगी।

jhalak

७ चिट्ठाकार का नाम, चटकाएँ और पढ़ें चिट्ठाकार के और लेख।

८ चिट्ठे का नाम, चटकाएँ और पढ़ें चिट्ठे के और लेख।

९ यह बताता है प्रविष्टि कितने समय पहले संपादित की गई।

१० लाल दिल, जिस चिट्ठे पे दिल आ जाए इसे चटकाएँ, आपकी पसंदीदा सूची में चिपक जाएगा।

११ अगर अभी तक किसी ने इसे अब तक अपनी पसंदीदा सूची में चिपकाया है तो यह यह भी बताएगा कितनों ने।

१२ हरी घण्टी, जिस चिट्ठे पे दिल आ जाए और आप इस की नई प्रविष्टियों का सूचक बनाना चाहते हैं, इसे चटकाएँ, आपकी पसंदीदा सूची में चिपक जाएगा। अगर अभी तक किसी ने इसे अब तक अपनी पसंदीदा सूची में चिपकाया है तो यह यह भी बताएगा कितनों ने।

१३ सक्रियता क्रं० – आपका स्थान या महत्व।

१४ कितने चिट्ठों की कितनी प्रविष्टियों में उपस्थिति, और चटकाएँगे तो दिखाएगा भी।

१५ सम्बन्धित सांकेतिक शब्द, किसी भी शब्द को चटकाएँ और सम्बन्धित प्रविष्टियों को पढ़ें। आप सांकेतिक शब्द कड़ी बना कर अपने लेख में चिपका भी सकते हैं।

१६ यह तब दिखेगा जब लेख में तस्वीर होगी। — शास्त्री जे सी फिलिप

Share:

Author: Super_Admin

4 thoughts on “जानें चिट्ठाजगत डॉटइन के बारे में: कैसे पढ़ें प्रविष्टियों को

  1. औकातवाली बात ठीक है. एक कमी खटकती है. नारद के गोल बक्से के ऊपर चूहा दौड़ाने से पता चल जाता है कि कितने लोगों ने आपको घास डाली है, चिट्ठाजगत मैं ऐसी कोई व्यवस्था है क्या? और शास्त्री जी औकात के साथ चिट्ठाजगत का सूचक कैसे लगाएं. जैसे आपने लगा रखा है.

  2. “कितने लोगों ने आपको घास डाली है”

    क्या फर्क पड़ता है, यह तो आप stats से भी देख सकते हैं।

    पसंदीदा सूची में चिपकाया अगर किसी ने तो पता चलेगा कितना पसंद किया लोगों ने
    तीन न० पढ़ें
    ३. लाल दिल, जिस लेख पे दिल आ जाए इसे चटकाएँ, आपकी पसंदीदा सूची में चिपक जाएगा, अगर अभी तक किसी ने इसे अब तक अपनी पसंदीदा सूची में चिपकाया है तो यह भी बताएगा कितनों ने।

  3. प्रिय संजय, सूचक के लिये चिट्ठाजगत पर पंजीकरण करना होगा. मैं अभी भी इसे जाचपरख रहा हूं अत: “कितने लोगों ने आपको घास डाली है” यह सुविधा है क्या यह देखना पडेगा.

  4. नारद के गोल बक्से के ऊपर चूहा दौड़ाने से पता चल जाता है कि कितने लोगों ने आपको घास डाली है
    यह डालना कोई बहुत आसान है, मगर, क्या ज़रूरत है इस की? शायद यह जानना जादा जरूरी है कितने लोग आप को bookmark कर रहे हैं।
    औकात के साथ चिट्ठाजगत का सूचक कैसे लगाएं
    अपने खाते में जाएँ “मेरे चिट्ठे” पे चटकाएँ, सभी “अधिकृत चिट्ठों” के साथ चार कड़ीयाँ मिलेंगी, चौथी कड़ी प्रयोग करें।

Leave a Reply to Shastriji Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *