ईसा जयंती: शुभ कामनायें!!

JChrist

 

ईसा-जयंती के इस पावन पर्व पर
आप सब को ईश्वर की असीम आशिष प्राप्त हो!

 

राजमहलों में जन्म लेने के बदले जिस तरह से
प्रभु ईसा ने
एक गरीब के घर में
और वह भी अपने मांबाप की यात्रा के

दौरान एक गौशाले में जन्म लिया,  उस घटना
के द्वारा प्रभु हम सब को
यह समझने की
बुद्धि प्रदान करें कि ईश्वर आम आदमी

के दिलों में वास करना चाहते हैं.

 

प्रभु करे कि नया साल आप सब के जीवन

और मनों में ईश-निवास का एक साल हो!

सस्नेह — शास्त्री

Share:

Author: Super_Admin

26 thoughts on “ईसा जयंती: शुभ कामनायें!!

  1. आप को भी महात्मा ईसा के जन्मदिन पर ढेरों शुभकामनाएँ!
    ईसा ने मानवता का जो संदेश दिया और दुनिया को प्रेम के माध्यम से सही मार्ग पर चलने का मार्ग दिखा दिया वह अब अनेक पंथों में बंट कर भले ही धुंधाच्छादित हो गया हो फिर भी मनुष्य के लिए आशावाद का एक स्रोत बना हुआ है।

  2. आपको भी महात्मा ईसा के जन्मदिन पर कोटिश शुभकामनाएं, ईश्वर सभी प्राणियों पर आशीष बनाएं और स्नेह की वर्षा करें इसी आशा और शुभकामनाओं के साथ क्रिसमस पर्व मनाएं।

  3. शुभकामनाये ईसा जन्म की . इस शुभ दिन पर एक सवाल नि:स्वार्थ व्यक्ति को सूली क्यो चढा दिया जाता है जबकि वह सम्पुर्ण मानव जाति के कल्याण के लिये कार्य करता था

  4. शास्त्री जी, प्रभु ईशु के जन्मदिवस पर आपको एवं आपके परिवार को ढेरों शुभकामनाएं.

  5. आपको भी ईसा जयंती की हार्दिक शुभकामनायें
    काफी दिनों से आपकी पोस्ट नही आयी थी, मुझे उम्मीद थी कि आज आप का आशिष हमें जरुर मिलेगा।

    प्रणाम स्वीकार करें

  6. शास्त्री जी
    आपको क्रिसमस के पावन पर्व पर मेरी तरफ से शुभकामनायें। आप निरंतर प्रगति पथ पर बढ़ते रहें ऐसी हार्दिक कामना है।
    दीपक भारतदीप

  7. ईसा की सरलता, क्षमाशीलता तथा मानवमात्र से प्रेम मानवता का पथ आलोकित करता रहे। ईसा-मसीह के अवतार का दिन सबको शुभ हो!

  8. आपको भी हार्दिक शुभकामनाएँ।
    शास्त्री जी, कई माह से मेरे सेट पर आपका ब्लॉग नहीं खुल रहा था, आज हाईमाईऐस डॉट कॉम के जरिए यहां तक पहुंचा हूँ।

  9. आपकी यह पोस्ट आज ही देखी। ईसा श्रीराम, श्रीकृष्ण आदि की ही परम्परा के महापुरुष हैं। उनका जीवन इन्हीं महापुरुषों की तरह मर्यादा एवं मानवता का सन्देश सिखाता है।

Leave a Reply to Sanjay Kareer Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *